Ajab Gajab

जीवट चीनी जनजाति जिन्होंने बना डाला समुद्र पर तैरता गाँव

जीवट चीनी जनजाति जिन्होंने बना डाला समुद्र पर तैरता गाँव

समंदर और झील की लहरों पर तैरती हुई नौकाओं और जहाज़ों को देखना तो आम बात है. लेकिन ज़रा सोचिए क्या पूरी-पूरी एक बस्ती समंदर की हिचकोले खाती हुई लहरों पर बसाई जा सकती है. समंदर की लहरों पर बस्ती को बसाने की बात नामुमकिन सी भले ही लगती है लेकिन ये हकीकत है.

हम आपको रूबरू कराने जा रहे हैं समंदर पर बसा हुआ गाँव जो पिछले 1300 सालों से तैर रहा है. आइए जानते हैं समंदर पर बसा हुआ गाँव के बारे में.

समंदर पर बसा हुआ गाँव – समंदर पर तैरती हुई बस्ती

चीन के दक्षिण पूर्व क्षेत्र में स्थित है दुनिया की एकमात्र समंदर पर तैरती हुई बस्ती. पिछले 1300 सालों से पानी पर तैरने वाली इस बस्ती में आज भी करीब 7000 लोग रहते हैं. ये बस्ती समुद्री मछुवारो की है जो टांका कहलाते है. उनकी यह बस्ती फुजियान राज्य के दक्षिण पूर्व की निंगडे सिटी के पास समुद्र में तैर रही है.

समंदर पर चलता है मछुवारों का राज

बताया जाता है कि चीन में 700 ईसवी में तांग राजवंश का शासन था. उस समय टांका जनजाति समूह के लोग युद्ध से बचने के लिए समुद्र में अपनी नावों में रहने लगे थे.

तब से इन्हें ‘जिप्सीज ऑन द सी’ कहा जाने लगा और वो कभी-कभार ही जमीन पर आते हैं. आज भी इस समंदर में करीब 7000 मछुआरों के परिवार अपने परंपरागत नावों के मकान में रह रहे हैं.

ये लोग ज़मीन पर रहने से करते हैं इंकार

चीन में कई सदियों पहले टांका कम्युनिटी के लोग वहां के शासकों के उत्पीडऩ से इतने नाराज हुए कि उन्होंने समुद्र पर ही रहना तय किया था. तब से लेकर आज तक ये लोग न तो धरती पर रहने को तैयार हैं और न ही आधुनिक जीवन अपनाने को तैयार हैं.

टांका जनजाति के लोगों का पूरा जीवन पानी के घरों और मछलियों के शिकार में ही बीत जाता है. ज़मीन पर जाने से बचने के लिए इन लोगों ने न सिर्फ तैरने वाले घरों का निर्माण किया बल्कि लकड़ी के बड़े-बडे प्लेटफर्म भी तैयार किए हैं.

तैरते हुए हाउसबोट पर ही होती है शादियां

समंदर में तैरते हुए घरों में रहनेवाले इन मछुआरों के बारे में कहा जाता है कि ये लोग समंदर के किनारे पर जाना पसंद नहीं करते हैं और न ही समुद्री किनारे पर बसे लोगों के साथ विवाह जैसे रिश्ते बनाना पसंद करते हैं. ये लोग समंदर में अपनी तैरती हुई बोटों पर ही शादी-ब्याह जैसे समारोह का आयोजन करते हैं.

ये था समंदर पर बसा हुआ गाँव – गौरतलब है कि सरकार द्वारा प्रोत्साहन मिलने के बाद भी ये लोग समंदर की अपनी छोटी सी इस दुनिया से निकलकर ज़मीन पर बसनेवाली आधुनिक दुनिया का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं.

तभी तो इस आधुनिक युग में इन लोगों को समंदर पर बने पारंपरिक और पानी में तैरते हुए घरों में ही रहना पसंद है.

Click to add a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ajab Gajab

More in Ajab Gajab

जानिए क्यों चाँद पर कदम रखने वाले पहले आदमी ने मांगी थी इंदिरा से माफ़ी

AshishApril 4, 2018

सनकी राष्ट्रपति जो मदिरा पान व् धूम्रपान न करने वालों को देना चाहता है मौत

AshishApril 4, 2018

भारतीय इतिहास का रईस महाराजा जिससे अंग्रेज़ भी मांगते थे क़र्ज़

AshishApril 4, 2018

क्यों भारतीय सेना सिर्फ जिप्सी इस्तेमाल करती है ?

AshishApril 4, 2018

Sedlec Ossuary एक रहस्यमयी चर्च जिसमे सजीं हैं ४० हजार लोगों की हड्ड‍ियां

AshishApril 4, 2018

पढ़िए भारतीय सविंधान पे क्यों हर भारतीय को गर्व करना चाहिए

AshishApril 4, 2018

शोध में मिले प्रमाण ख़त्म हो जायेगा धर्म 21 वीं सदी में

AshishApril 4, 2018

ऑगस्ट लैंडमेसर जिसने भरी सभा में की थी हिटलर की बेइज़्ज़ती

AshishApril 4, 2018

महाभारत कालीन रहस्यमयी लाख का महल जहाँ दुर्योधन पांडवों की हत्या करना चाहते थे

AshishApril 4, 2018

Copyright 2016 Comicbookl / All rights reserved